भारत का पाकिस्तान पर जबरदस्त हमला,इमरान खान के उड़े होश देखें पूरी रिपोर्ट

नई दिल्ली। बहुत दिन बाद ऐसा हुआ है कि भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ कई मोर्चों पर एक साथ हमला बोला है। भारत का इस तरह आक्रामक रुख देख कर पाकिस्तान के होश उड़ गये हैं। भारत पर पहला हमला इंडियन आर्मी चीफ एमएम नरवणे ने किया। जनरल नरवणे ने कहा कि पाकिस्तान न कोरोना महामारी देख रहा है और न रोजा-रमजान। पाकिस्तान की कायर फौज और आईएसआई भारत के साथ-साथ अफगानिस्तान में भी आतंक फैला रही हैं।

जनरल नरवणे ने कहा कि भारतीय सेना पाकिस्तान के खिलाफ जवाबी कार्रवाई के लिए आजाद है, वो वक्त और स्थान तय कर मुंहतोड़ जवाब देती रही। वहीं भारत के ही विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान की इमरान सरकार से कहा है कि गिलगिट बाल्टिस्तान से अवैध कब्जा हटाए और तुरंत खाली करे। पूरा जम्मू-कश्मीर और गिलगिट बालटिस्तान भारत का अभिन्न हिस्सा हैं। इन हिस्सों पर पाकिस्तान की सरकार या अदालतें कोई भी फैसला नहीं लेसकती हैं।

दरअसल, पाकिस्तान की अदालत ने कथित तौर पर गिलगित बालटिस्तान में चुनाव करवाने और वहां सरकार बनाने के आदेश दिये हैं। इस पर भारत की ओर कड़ी प्रतिक्रिया दी गयी। पाकिस्तान के सीनियर डिप्लोमेट को बुलाकर एक डिमार्श भी सौंपा। विदेश मंत्रालय ने पाकिस्‍तान को साफ कर दिया है कि जम्‍मू कश्‍मीर और लद्दाख का पूरा क्षेत्र जिसमें गिलगित-बाल्टिस्तान का हिस्‍सा भी आता है, वह भारत का आंतरिक भाग है। भारत ने साथ ही यह भी साफ कर दिया है कि इस मसले पर भारत की स्थिति साल 1994 में संसद में पास हुए प्रस्‍ताव में नजर आई थी जिसे सर्वसम्‍मति से पास किया गया था। पाकिस्‍तान या फिर इसकी न्‍यायपालिका के पास कोई अधिकार नहीं है कि वह इस पर गैर-कानूनी और जबरन कब्‍जा करे।

उधर जनरल नरवाणे ने कहा है कि जबतक पाकिस्तान राज्य प्रायोजित आतंकवाद की अपनी नीति नहीं छोड़ता, हम उचित और सटीक तरीके से जवाब देना जारी रखेंगे। उन्होंने पाक को चेतावनी देते हुए कहा कि भारतीय सेना संघर्ष विराम के उल्लंघन और आतंकवाद को समर्थन देने के सभी कार्यों को समुचित जवाब देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *